Tuesday, September 27, 2022
HomeNationalWorld Conservation Day :सेना ने जम्मू-कश्मीर में कचरा प्रबंधन पर फैलाई जागरूकता
HomeNationalWorld Conservation Day :सेना ने जम्मू-कश्मीर में कचरा प्रबंधन पर फैलाई जागरूकता

World Conservation Day :सेना ने जम्मू-कश्मीर में कचरा प्रबंधन पर फैलाई जागरूकता

इंडिया न्यूज़, Kashmir News : भारतीय सेना ने विश्व संरक्षण दिवस के अवसर पर कचरे के पृथक्करण की चुनौती को लेकर जनता के बीच जागरूकता पैदा करने का काम शुरू किया है। इस पहल के तहत सूखे और गीले कचरे को अलग-अलग करके आगे संसाधित किया जाता है। जिससे प्रकृति पर भारी प्रभाव पड़ता है। साथ ही किसी भी बीमारी और अन्य बीमारियों को फैलने से बचाकर क्षेत्र की स्थिति में सुधार होता है।

जानकारी अनुसार, सेना ने यह भी कहा कि अमरनाथ यात्रा के दौरान भारी मात्रा में कचरा पैदा होता है। इसलिए स्वच्छता सुनिश्चित करना आवश्यक हो जाता है। भारतीय सेना ने कहा, अमरनाथ यात्रा में हर साल चार लाख से अधिक तीर्थयात्री आते हैं। ये बड़ी संख्या यात्रा के दौरान भारी मात्रा में कचरा उत्पन्न करती है। यात्रा की सुंदरता और धार्मिक पवित्रता को बनाए रखने के लिए। स्वच्छता सुनिश्चित करना आवश्यक हो जाता है।

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस हर साल 28 जुलाई को मनाया जाता है

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस हर साल 28 जुलाई को मनाया जाता है। यह दिन इस तथ्य को स्वीकार करता है कि एक स्वस्थ वातावरण पर एक स्थिर और स्वस्थ समाज का निर्माण होता है। इस साल पूरी दुनिया इसे ‘लिविंग सस्टेनेबल इन हार्मनी’ की थीम के साथ देख रही है। यह हमारे प्राकृतिक संसाधनों जैसे नदियों और नालों की रक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने और ग्रह को जलवायु परिवर्तन के प्रतिकूल प्रभावों के खतरे से बचाने के लिए हानिकारक प्रभावों को कम करने का भी दिन है।

प्लास्टिक और इस तरह के अन्य कचरे के कारण प्रकृति का दीर्घकालिक क्षरण कम समझा जाता है। ये हानिकारक रसायन पानी मिट्टी और हवा के माध्यम से पर्यावरण के साथ मिल जाते हैं। हमारे मानव पारिस्थितिकी तंत्र में प्रवेश करते हैं। उसी के लिए, भारतीय सेना ने यात्रा के दौरान गैर-बायोडिग्रेडेबल कचरे को खत्म करने के लिए कई उपाय किए। प्रारंभिक चरणों में कचरे का अनुचित पृथक्करण सूखे और गीले कचरे के मिश्रण का कारण बनता है।

जागरूकता फैलाने के लिए बालटाल और पवित्र गुफा के बीच पोस्टर लगाए

Indian Army Raises Awareness

जिसके परिणाम स्वरूप विभिन्न स्वच्छता संबंधी बीमारियां होती हैं। जिससे प्रकृति पर दीर्घकालिक प्रभाव पड़ता है। इसलिए, प्रारंभिक अवस्था में कचरे का उचित पृथक्करण आवश्यक है। स्वच्छ भारत अभियान के अनुरूप, भारतीय सेना ने इन पर्यावरणीय मुद्दों को विभिन्न पहलों और अभियानों के साथ संबोधित किया। भारतीय सेना ने तीर्थ यात्रियों के बीच कचरा पृथक्करण और अपशिष्ट निपटान के लिए जागरूकता फैलाने के लिए बालटाल और पवित्र गुफा के बीच पोस्टर लगाए। जिससे पूरे देश में संदेश फैलाने में मदद मिली।

ये भी पढ़े: पत्थर गिरने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए बंद

ये भी पढ़े: देश में डॉक्टरों की उपलब्धता को और बढ़ाने के लिए सरकार ने उठाए कई नए कदम

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular