Friday, October 7, 2022
Homeमध्यप्रदेशभारत में 2012 से अब तक 1,000 से अधिक बाघों की मौत,...
Homeमध्यप्रदेशभारत में 2012 से अब तक 1,000 से अधिक बाघों की मौत,...

भारत में 2012 से अब तक 1,000 से अधिक बाघों की मौत, सबसे अधिक मौते मध्य प्रदेश में

इंडिया न्यूज़, New Delhi: भारत ने 2012 से अब तक 1,059 बाघों को खो दिया है। मध्य प्रदेश जिसे देश के ‘बाघ राज्य’ के रूप में जाना जाता है। में सबसे अधिक मौतें दर्ज की गई हैं। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) के मुताबिक, इस साल अब तक 75 बाघों की मौत हो चुकी है। जबकि पिछले साल 127 बाघों की मौत हुई थी। जो 2012-2022 की अवधि में सबसे ज्यादा है।

2020 में 106 बाघों की मौत हुई। 2019 में 96; 2018 में 101; 2017 में 117; 2016 में 121; 2015 में 82; 2014 में 78; 2013 में 68 और 2012 में 88। मध्य प्रदेश जिसमें छह बाघ अभयारण्य हैं। इस अवधि के दौरान सबसे अधिक (270) मौतें दर्ज कीं। इसके बाद महाराष्ट्र (183), कर्नाटक (150), उत्तराखंड (96), असम (72), तमिलनाडु (66) हैं। उत्तर प्रदेश (56) और केरल (55)।

राजस्थान, बिहार, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश में क्रमश: 25, 17, 13, 11 और 11 बाघों की मौत हुई। मध्य प्रदेश ने पिछले डेढ़ साल में 68 बाघों को खोया है। महाराष्ट्र में इस अवधि में 42 बाघों की मौत हुई है। 2018 टाइगर जनगणना में, मध्य प्रदेश 526 बाघों के साथ भारत के ‘बाघ राज्य’ के रूप में उभरा था। इसके बाद कर्नाटक में 524 बाघ थे। आंकड़ों के मुताबिक 2012-2020 की अवधि में 193 बाघों की शिकार के कारण मौत हुई। अधिकारियों ने 108 बाघों की मौत के कारण “जब्ती” की पहचान की।

इस अवधि में “अप्राकृतिक” कारणों से 44 बड़ी बिल्लियों की मृत्यु हुई। किसी विशेष मामले को “प्राकृतिक”, “अवैध शिकार” या “अप्राकृतिक लेकिन अवैध शिकार नहीं” के रूप में बंद करने के लिए शव परीक्षण रिपोर्ट, फोरेंसिक और प्रयोगशाला रिपोर्ट और परिस्थितिजन्य साक्ष्य जैसे पूरक विवरण एकत्र किए जाते हैं। किसी मामले को प्राकृतिक या अवैध शिकार साबित करने की जिम्मेदारी राज्य की होती है। किसी भी संदेह की स्थिति में सबूतों के बावजूद अवैध शिकार को मौत का कारण बताया जा रहा है।

ये भी पढ़े: मध्य प्रदेश के आदमी को मिला ₹ 3,419 करोड़ का बिजली बिल, अस्पताल में भर्ती

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular