Friday, October 7, 2022
Homeभोपालजाति और धर्म स्वास्थ्य सेवा के आड़े नहीं आने चाहिए: राष्ट्रपति रामनाथ...
Homeभोपालजाति और धर्म स्वास्थ्य सेवा के आड़े नहीं आने चाहिए: राष्ट्रपति रामनाथ...

जाति और धर्म स्वास्थ्य सेवा के आड़े नहीं आने चाहिए: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

इंडिया न्यूज़, Bhopal News : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भोपाल में कहा कि लिंग, जाति, क्षेत्रवाद या धर्म स्वास्थ्य और उपचार के आड़े नहीं आना चाहिए। राष्ट्रपति मध्य प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर हैं और रविवार को मंदिर नगर उज्जैन जा रह है। कोविंद ने शनिवार को आयुष विभाग की ओर से आयोजित किए जा रहे आरोग्य मंथन कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर राज्यपाल मंगूभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और आयुष मंत्री रामकिशोर कावरे भी मौजूद थे। कोविंद ने कहा सर्वे भवन्तु सुखिन सर्वे संतु निरामय। भारत एक पसंदीदा चिकित्सा पर्यटन स्थल है और दूसरी ओर स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार की गुंजाइश है। यह देश के लिए एक चुनौती है।

केंद्र सरकार की 2017 की राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति का उद्देश्य सभी के लिए स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। उन्होंने लोगों से चिकित्सा बिरादरी के प्रति सहानुभूति रखने का आग्रह किया। उन्होंने निस्वार्थ भाव से समाज की सेवा करने वाले डॉक्टरों की सराहना की और कहा कि उनमें से कई स्वेच्छा से आदिवासी और ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा करते हैं।

उन्होंने डॉ लीला जोशी का उदाहरण दिया जो रतलाम जिले के आदिवासी ग्रामीण और शहरी मलिन बस्तियों में एनीमिया के कारण मृत्यु दर को कम करने के लिए दो दशकों से अधिक समय से काम कर रही हैं। बाद में कोविंद ने लगभग 400 करोड़ रुपये की स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को समर्पित किया।

लाल परेड ग्राउंड में एक समारोह में कोविंद करीब 182 करोड़ रुपये की लागत से 10 शहरी स्वास्थ्य संस्थान भवनों का भूमि-पूजन करेंगे और 72 करोड़ रुपये की लागत से 4 स्वास्थ्य संस्थानों के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन करेंगे।

ये भी पढ़े: सारा अली खान ने इस्तांबुल ट्रिप की तस्वीरें कीं इंस्टाग्राम पर शेयर

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular